गोल्डन गर्ल हिमा दास नें जितें 20 दिन में 5 गोल्ड

नमस्कार आप पढ़ रहें हैं न्यूज जोश, भारत शुरू से ही खेलों में अपना अच्छा प्रदर्शन करता रहा हैं. असम के एक छोटे गाँव से निकली गोल्डन गर्ल नें वो कर दिया जिसने उसे महान खिलाड़ी बना दिया. हिमा दास नें 20 दिन में जीतें 5 गोल्ड मेडल. अब हिमा को गोल्डन गर्ल व ढिंग एक्सप्रेस के नाम से भी जाना जाता हैं.

जानिए कहाँ और कब जीतें 5 गोल्ड मेडल

  •  2-7-2019:- एथलेटिक्स ग्रांपी, पोलैंड, 200 मीटर: गोल्ड मेडल.
  • 7-7-2019: एथलेटिक्स मीट, कुटनो, पोलैंड 200 मीटर: गोल्ड मेडल.
  • 13-7-2019: एथलेटिक्स मीट, क्लाइनो, चेक रिपब्लिक, 200 मीटर: गोल्ड मेडल.
  • 17-7-2019: एथलेटिक्स मीट, टाबोर, चेक रिपब्लिक, 200 मीटर: गोल्ड मेडल.
  • 20-7-2019: नोवे मेस्टो नाड मेटुजी ग्रां प्री, चेकगणराज्य, 400 मीटर: गोल्ड मेडल.

हिमा दास नें पिछले 20 दिनों में 5 गोल्ड मेडल जीतने में कामयाब रही हैं. हिमा की उम्र महज 19 साल हैं और वह असम के एक छोटे से गाँव की रहने वाली हैं. भारत वर्ल्ड कप में हार गया था जिसके कारण खेल प्रेमी काफी निराश नजर आए. लेकिन अब हिमा का प्रदर्शन खेल प्रेमियों को सुकून देने वाला हैं.

2018 में भी रचा था इतिहास

हिमा नें 2018 में भी आईएएएफ विश्व अंडर-20 एथलेटिक्स चैंपियनशिप (IAAF World Under-20 Athletics Championship) की 400 मीटर दौड़ में भी गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रचा था. इसे इतिहास रचा इसलिए कहा जाता हैं क्योंकि भारत नें IAAF की ट्रैक स्पर्धा में पहली बार गोल्ड मेडल जीता था. आपको बता दें की हिमा दास से पहले किसी भी भारतीय महिला खिलाड़ी नें जूनियर या सीनियर किसी भी स्तर पर विश्व चैम्पियनशिप में गोल्ड नहीं जीता था.

Google पर सर्च की जाती हैं हिमा की जाति

2018 में IAAF ट्रैक पर अंडर-20 में गोल्ड जीतने वाली हिमा दास की जाति गूगल पर ट्रेंड कर चुकी हैं. गूगल ट्रेंड की रिपोर्ट के अनुसार हिमा के गोल्ड जितने के बाद लोगों नें हिमा की जाति (Hima Das Caste) को हजारों लोगों नें गूगल पर सर्च किया हैं. देखिए गूगल सर्च की तस्वीर.

 

WhatsApp Group से जुड़ें