हैदराबाद एनकाउंटर में की गई 6 बड़ी गलतियाँ

हैदराबाद में डॉक्टर प्रियंका रेप केस के 4 आरोपियों का हैदराबाद पुलिस ने एंकाउंटर कर दिया, जिसमें सबकी मौके पर मौत हो गई.

आइए आपको कुछ तथ्य समझाते हैं

  1. सबसे पहली बात ये गौर करने वाली थी की उन 4 युवकों को हथकड़ियाँ क्यों नहीं लगाई गयी थी. सुप्रीम कोर्ट के आदेश अनुसार किसी भी बड़े क्राइम को करने वाले अपराधी को हथकड़ी लगाना जरूरी हैं.
  2. बंदूक छिन के पत्थर मारे हैदराबाद पुलिस नें कहा की 4 युवकों नें उनकी बंदूक छिन के उन्हें पत्थर मारे, अब सोचने वाली बात यह हैं की पुलिस कस्टडी के दौरान कैसे कोई पुलिस वाले की पिस्तौल छिन सकता हैं (साहब यह सिर्फ फिल्मो में मुमकिन हैं)
  3. कोर्ट फैसला बिना कोर्ट के फैंसले के कैसे हम किसी व्यक्ति को गुनहेगार मान सकते हैं. जब तक कोर्ट कोई फैसला नहीं सुनाती तब तक वह मुलज़िम होता हैं मुजरिम नहीं.
  4. आधार पुलिस नें सिर्फ पेट्रोल खरीदे जाने पर उन 4 युवकों को आरोपी माना हैं. लेकिन पेट्रोल खरीदना ना ही कोई जुर्म हैं और ना ही कोई गुनाह. बिना कोर्ट के फैंसले के उन्हें आरोपी मानना भी गलत हैं.
  5. बचाव अगर एक बार मान लिया जाए तो उन 2 लोगों नें पुलिस की पिस्तौल छिन ली और उनपर पत्थरों से हमला कर दिया तो क्या पुलिस उन्मे से 1 को भी ज़िंदा नहीं रख सकी.
  6. वाईरल फोटो प्रियंका रेप केस में आज तक के रिकोर्ड को हिसाब से किसी भी आरोपी की फोटो इतनी जल्दी वाईरल नहीं हुई हैं.

मान लीजिए की यह रेप किसी नेता, मंत्री, पुलिस या किसी बड़ी हस्ती के बेटे या भाई नें किया हो और उसे बचाने के लिए पुलिस नें यह फ़िल्मी सीन बनाया हों. क्या पता प्रियंका के आरोपी अब भी किसी सड़क पर यही हरकत दोहरा रहा हो. हम प्रियंका के साथ हुई घटना से काफ़ी निराश हैं और चाहते हैं की इस मुद्दे को आप लोग समझे व विचार करें.

यह तथ्य हमें MMU अंबाला लॉ कॉलेज के छात्र विपुल भारद्वाज नें भेजे हैं

WhatsApp chat
WhatsApp Group से जुड़ें