आज ISRO को एक आशा की किरण मिली हैं. मतलब ये की जिस विक्रम लैंडर का 2.1 किलोमीटर पहले सम्पर्क टूट गया था. अब इसरो को उसकी लोकेशन की जानकारी मिल गयी हैं. आपको बता दें की ऑर्बिटर नें विक्रम लैंडर की फोटो भी ले ली हैं. ISRO अभी भी विक्रम लैंडर से सम्पर्क बनाने के प्रयास में जुटा हुआ हैं. उम्मीद करते हैं की भारत के वैज्ञानिकों को इसमें कामयाबी मिले.

पाकिस्तान का मजाक बन गया हैं

जब विक्रम लैंडर चाँद की सतह पर पहुँचने वाला था तब पूरे भारत की नजर TV सक्रीनों पर थी. मगर भारत के साथ-साथ पाकिस्तान में भी कोई चन्द्रयान के विक्रम लैंडर को चाँद की सतह पर उतरता देख रहा था. हालाँकि सम्पर्क टूटने के बाद ऐसा होते हुए कोई नहीं देख पाया. पाकिस्तान के मंत्री चौधरी फवाद हुसैन शायद इसी की कामना कर रहे थे की भारत फैल हो जाए. मगर इन कटोरे वाले भाई के लिए तो काला अक्षर भैंस बराबर हैं.

इमरान खान का ट्रोल

विक्रम लैंडर की लोकेशन मिलने के बाद लोग पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को ट्रोल कर रहें हैं. देखिए ट्विटर पर इन भाईसाहब नें क्या शेयर कर डाला.

यह फोटो जिसने भी डिजाइन की हैं उसे 100 रुपए का इनाम तो मिलना ही चाहिए

इन्होंने सही ट्वीट कर दिया – इनके ट्वीट का मतलब यह हैं की पाकिस्तान को चाँद पर जाने में 188 साल लग जायेंगे