जानिए धारा 370 क्या है, What is Article 370 in Indian Constitution

आपने अक्सर धारा 370 का नाम सुना होगा, आज जानिए धारा 370 क्या है और इसे कश्मीर में क्यों लागू किया गया।

आर्टिकल (धारा) 370 क्या है

आर्टिकल (धारा) 370 भारतीय सविधान का विशेष अनुछेद है, आर्टिकल 370 के तहत जम्मू-कश्मीर के लोगों को अन्य राज्यों से विशेष अधिकार प्राप्त है। यह धारा भारत के आजाद होते ही कश्मीर में लागू हो गयी थी। देश आजाद होने के बाद से ही आर्टिकल 370 को हटाने की बात की जा रही है, मगर राजनीतिक कारणो से यह सम्भव नही हो पाया। आर्टिकल 370 जवाहरलाल नेहरु द्वारा बनाया गया अनुछेद है, इसे जवाहरलाल नेहरू के विशेष हस्तक्षेप से तैयार किया था ।

कश्मीर का मुद्दा

पूरे भारत के लिए कश्मीर का मुद्दा आज भी समस्या बना हुआ है, सांसद को कश्मीर की सुरक्षा, विदेश मामलेसंचार व्यवस्था पर कानून बनाने का अधिकार है। किसी अन्य कानून को लागू करने या नया क़ानून बनाने के लिए केंद्र को राज्य सरकार का अनुमोदन लेना होता है।

1976 शहरी भूमि कानून कश्मीर पर लागू नही होता। इसी कारण भारत के लोगों को पूरे भारत में कही भी जमीन (भूमि) खरीदे का अधिकार है लेकिन कश्मीर मैं कोई भारतीय जमीन (भूमि) नही खरीद सकता ।

जम्मू कश्मीर के विशेष अधिकार

  1. विधानसभा का कार्यकाल 6 वर्ष का होता है।
  2. जम्मू-कश्मीर में भारतीय ध्वज की मान्यता नही है।
  3. जम्मू-कश्मीर में पंचायत क़ानून लागू नही होते।
  4. धारा 370 के कारण जम्मू-कश्मीर के RTI (सूचना का अधिकार) लागू नही होता।
  5. जम्मू-कश्मीर की महिला अगर भारत के अलग राज्य में विवाह करती है तो उसकी नागरिकता समाप्त हो जाती है।
  6. जम्मू-कश्मीर की महिला अगर पाकिस्तानी पुरुष से विवाह करती है तो पाकिस्तानी पुरुष को जम्मू-कश्मीर की नागरिकता मिल जायगी।
  7. भारतीय संसद जम्मू-कश्मीर के लिए अत्यंत सीमित कानून बना सकता है।
  8. जम्मू-कश्मीर का राष्ट्रीय ध्वज अलग है।
  9. जम्मू-कश्मीर के नागरिकों के पास दोहरी नागरिकता होती है।
  10. भारत उच्चन्यायालय के निर्देश जम्मू-कश्मीर में मान्य नही होते।

Article 370 भारतीय सविधान का अंग है। इसका वर्णन 21 भाग में समाविष्ट है, जिसका शीर्षक आस्थाई परवर्तनिय व विशेष प्रावधान।